The FactShala

तथ्य बिना सत्य नहीं

डीएसपी जेसी प्रशांति : बेटियों की रोल मॉडल क्यों कहा जा रहा है ?

1 min read
डीएसपी जेसी प्रशांति

डीएसपी जेसी प्रशांति

The FactShala

डीएसपी जेसी प्रशांति : बेटियों की रोल मॉडल क्यों कहा जा रहा है ?

सोशल मीडिया पर वायरल यह तस्वीर डीएसपी जेसी प्रशांति की है. हर माँ बाप चाहते है की उनकी औलाद उनसे भी ज्यादा तरक्की करें. प्रशांति की कहानी उनलोगों को जरूर पढ़ना चाहिए, जिन्हे बेटियों से ज्यादा बेटों पर भरोषा होता है. एक माँ बाप के लिए फक्र की बात उसकी औलाद पर कामयाबी तय करती है. ये ख़ुशी तब और दुगनी हो जाती है जब कामयाबी बेटी को मिले. सोशल मीडिया पर वायरल यह तस्वीर आंध्रा प्रदेश के तिरुपति की है. एक बाप बेटी की इस तस्वीर में हज़ारों कहानियां शामिल है. तस्वीर की पूरी कहानी किसी फ़िल्मी स्क्रिप्ट से ज्यादा दिलचस्प है. इस तस्वीर को खुद आंध्र प्रदेश पुलिस ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया। जिसके बाद देखते ही देखते ये वायरल हो गई। पोस्ट में लिखा है, ‘साल के पहले ड्यूटी मीट ने एक परिवार को मिला दिया।

डीएसपी जेसी प्रशांति
डीएसपी जेसी प्रशांति

बेटी बचाओं की मिशाल : एक डॉक्टर के बिन ब्याही माँ बनने की सच्चाई क्या है ?

इस तस्वीर में सर्किल इंस्पेक्टर श्याम सुंदर ने अपनी ही बेटी को नमस्ते मैडम कहते हुए सलाम करते हुए नजर आ रहे हैं। इस दौरान प्रशांति ने भी पिता सुंदर को सैल्यूट किया। लोग पिता और बेटी दोनों की खूब तारीफ कर रहे हैं। जेसी प्रशांती डिप्टी सुपरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस हैं। सही में एक दुर्लभ और भावुक कर देने वाला दृश्य है ये. प्रशांति पुलिस विभाग में 2018 से तैनात है. फ़िलहाल वो गुंटूर शहर (दक्षिण) में डीएसपी के पद पर तैनात है, जबकि पिता श्याम सुन्दर तिरुपति के कल्याणी डेम पुलिस ट्रेनिंग सेण्टर में कार्यकरत है. वो वहां पर बतौर सीआई कार्यरत है. ये अद्भुत तस्वीर तब की जब पुलिस विभाग के कार्यक्रम में बाप बेटी का आमना सामना हुआ. चुकी बेटी पिता से सीनियर अफसर है इसलिए उन्होंने प्रोटोकॉल के तहत उसे सैलूट किया, लेकिन उनके चेहरे पर गर्व का भाव साफ दिख रहा है. प्रशांति के पिता 1996 में सब इंस्पेक्टर के तौर पर भर्ती हुए थे. तिरुपति में 3 दिन के पुलिस कार्यक्रम में दोनों बाप बेटी के मिलन के वक़्त उनके सहयोगी ने ये तस्वीर खींची थी.

Archna kumari judge
Archna kumari judge

जब सीआई पिता ने अपनी डीएसपी बेटी को सैल्यूट किया तो उनका सीना गर्व से चौड़ा हो गया और फिर बाप-बेटी की दिल को छू लेने वाली तस्वीर सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो गई. हालाँकि ये पहला मामला नहीं है जब किसी बेटी अपने पिता से ज्यादा तरक्की की हो. इससे पहले भी कई मामले सामने आ चुके है. ऐसा ही एक मामला 2018 में बिहार में सामने आया था. बिहार के सोनपुर रेलवे कोर्ट में काम करने वाले एक चपरासी की बेटी जज बन गई. अर्चना कुमारी ने 2018 में बिहार न्यायिक सेवक परीक्षा में पास होकर बाप का सीना चौड़ा कर दिया. अर्चना ने उस परीक्षा में ओबीसी केटेगरी में 10 वां और जनरल केटेगरी में 227 वां स्थान हासिल किया था. ये कहानियों उन बेटियों के लिए प्रेरणा है जिन्हे माँ बाप का सपना बोझ लगता है. उन परिवारों के लिए भी ये कहानी आँखे खोलने वाली है जिन्हे बेटी से ज्यादा बेटों से उम्मीद होती है.


Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *